Google search engine
HomeIndiaMuslim league: मुस्लिम लीग पर राहुल गांधी ने दिया 1 बयान,मच गया...

Muslim league: मुस्लिम लीग पर राहुल गांधी ने दिया 1 बयान,मच गया बवाल।

Muslim leagueराहुल गांधी ने अमेरिका के दौरे के दौरान जिन्ना की पार्टी मुस्लिम लीग को बता धर्मनिरपेक्ष इसपर देश में मचा बवाल, बता दें कि इन दिनों राहुल गांधी अमेरिका के दौरे पर हैं

Muslim league

WTC Final 2023: टीम इंडिया को लेकर असमंजस में रोहित शर्मा, कुछ खिलाड़ी प्लेइंग इलेवन से हो सकते हैं बाहर।

Muslim league मुस्लिम लीग से गठबंधन करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि  मुस्लिम लीग पार्टी धर्मनिरपेक्ष पार्टी है।राहुल गांधी के इस बयान पर भारतीय जनता पार्टी ने विरोध जताया है।

राहुल गांधी ने कहा कि मुझे लगता है कि जिस व्यक्ति ने प्रश्न भेजा है उस व्यक्ति ने मुस्लिम लीग का अध्ययन नहीं किया है मुस्लिम लेख पूरी तरह से धर्मनिरपेक्ष सेकुलर पार्टी है।

Muslim leagueइस पर भाजपा नेता अमित वालों मालवीय ने कहा कि जो पार्टी धार्मिक आधार पर बनी थी और भारत का विभाजन का मुख्य जिम्मेदार है राहुल गांधी उससे सेकुलर पार्टी बता रहे हैं राहुल पढ़े-लिखे कम भले ही हैं लेकिन इस जगह पर राहुल गलत भी हैं

Muslim league वायनाड में स्वीकार्यता बनाए रखने के लिए राहुल की मजबूरी है ऐसा नहीं बोलेंगे तो वहां का वोट बैंक के थक जाएगा और इसलिए राहुल गांधी की मजबूरी भी बनती है मुस्लिम लीग को सेकुलर बताना।

मुस्लिम लीग की स्थापना 30 दिसंबर 1906 तब पूरा भारत एक था।

Muslim league मार्च 1940 को मोहम्मद अली जिन्ना के नेतृत्व में आल इंडिया मुस्लिम लीग ने लाहौर में एक अधिवेशन बुलाया इस दौरान जिन्ना ने एक स्वतंत्र देश की स्थापना के लिए संघर्ष करने का संकल्प लेते हुए पाकिस्तान प्रस्ताव को अपनाया 7 साल बाद आजादी के साथ ही बटवारा भी हो गया

The Kerala Story: नसीरुद्दीन शाह ने “ द केरल स्टोरी ,,को बताया 1 डेंजरस, तो मनोज तिवारी का फूटा गुस्सा कहा दम है तो जाइए कोर्ट।

14 अगस्त 1947 को दुनिया के नक्शे पर भारत के दो टुकड़े हो गए एक टुकड़ा था भारत और दूसरा टुकड़ा था पाकिस्तान भारत पाकिस्तान के बंटवारे का पूरा श्रेय मुस्लिम लीग और उसके मुखिया मोहम्मद अली जिन्ना को जाता है

Muslim league मुस्लिम लीग पाकिस्तान में पाकिस्तान मुस्लिम लीग के नाम से बन गई और भारत में ऑल इंडिया मुस्लिम लीग के नाम से पहले ही स्थापित थी।

इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग की स्थापना मार्च 1948 में चेन्नई में हुई थी 1952 से ही इस दल के नेता भारतीय चुनाव की राजनीति में प्रतिभाग कर रहे हैं

Muslim league इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग का केरल राज्य में अत्यधिक वर्चस्व है या पार्टी राज्य के विपक्षी गठबंधन यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट पार्टी की दूसरी सबसे बड़ी पार्टी है

इस गठबंधन का नेतृत्व कांग्रेश कर रही है गठबंधन के पारंपरिक सहयोगी है

इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग भारत में 1952 के चुनाव से ही चुनाव लड़ रहे हैं

Muslim league सी एच मोहम्मद को या के नेतृत्व में केरल विधानसभा चुनाव 1979 में इस पार्टी ने पहली बार सरकार बनाई थी केरल विधानसभा में केरल विधानसभा में 1982 में इस पार्टी की सीट की संख्या 14 थी जो 2011 में बढ़कर 20 हो गई थी।

Zara Hatke Zara Bachke: विक्की कौशल और सारा अली खान की 1 फिल्म जरा हटके जरा बचके है ,फुल पैसा वसूल |

पाकिस्तान मुस्लिम लीग के सिद्धांतों की बात करें तो यह पार्टी के संस्थापक जिन्ना के सिद्धांतों में विश्वास करती हैं

Muslim league पाकिस्तान के संविधान के उद्देश्यों का हवाला देती है यह आगे कहते हैं कि राष्ट्र के लोगों केदार चिह्न प्रतिनिधियों के माध्यम से अपनी शक्ति और अधिकारों का प्रयोग करेगा जिसमें इस्लाम द्वारा प्रतिपादित

लोकतंत्र स्वतंत्रता समानता सहिष्णुता और सामाजिक न्याय के सिद्धांतों का पूरी तरह से पालन किया जाएगा।

आईटी और कौशल विकास राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने भी राहुल गांधी के बयान पर राहुल गांधी प्रशासन कहां वैकल्पिक वास्तविकता में जी रहे थे वह मुस्लिम लीग को धर्मनिरपेक्ष कह कर दूसरों को भी इसी में घटित ने की कोशिश कर रहे हैं

कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने भी इस पर प्रतिक्रिया दी है और उन्होंने कहा कि यह जनसंघ था जिसका मुस्लिम लीग के साथ गठबंधन था केवल अज्ञानी ही मुस्लिम लेख को जिन्ना की मुस्लिम लीग से जोड़ेंगे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Latest News