Google search engine
HomeLIFESTYLEGinger Benefits : जानिए अदरक के फायदे .

Ginger Benefits : जानिए अदरक के फायदे .

Ginger Benefits:अदरक हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक होती हैं अक्सर अदरक का प्रयोग हम लोग काढ़ा बनाने में करते हैं जुखाम बुखार में अक्सर अदरक का ही काढ़ा पिया जाता है लेकिन अदरक का प्रयोग बहुत से बीमारियों में भी किया जाता है।अदरक का प्रयोग सूजन कम करने , पेट की गैस, बवासीर, कब्ज तथा पेट के फूलने की समस्या को ठीक करने में अदरक का प्रयोग किया जाता है।

अदरक को शहद के साथ मिलाकर एक है सेवन करने से सूजन कहीं पर शरीर में है तो खत्म हो जाती है यदि भूख नहीं लगती है तो अदरक को शहर के साथ खाने से पाचन तंत्र ठीक होता है और भूख भी लगने लगती है और अगर किसी को जुकाम बुखार की समस्या है तो खांसी की समस्या अदरक के सेवन से दूर हो जाएगी और।

Ginger Benefits
Ginger Benefits

यदि किसी व्यक्ति को पीलिया हो गया है तो तीन से पांच ग्राम अदरक और शहद को मिलाकर खाने से पिलिया की समस्या दूर हो जाती है

कैंसर में अदरक के फायदे

अदरक के बारे में मिशिगन यूनिवर्सिटी कांप्रिहेंसिव कैंसर सेंटर के एक अध्ययन में पाया गया है कि अदरक कैंसर की ओवरी कोशिकाओं को नष्ट किया है और कीमोथेरेपी से प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने से भी रोका जो कि ओवरी के कैंसर में एक आम समस्या होती है इस अध्ययन में शोधकर्ताओं ने ओवरी कैंसर कोशिकाओं पर अदरक पाउडर और पानी का एक लेप लगाया हर परीक्षण पाया गया की अदरक के मिश्रण के संपर्क में आने पर कैंसर की कोशिका है नष्ट हो गई।

अदरक को स्तन के कैंसर में प्रोस्टेट कैंसर और क्लोन कैंसर के इलाज में भी बहुत लाभदायक पाया गया है जनरल ऑफ बायो मेडिसिन एंड बायोटेक्नोलॉजी में प्रकाशित शोध में पता चला कि अदरक के पौधे के रसायनों ने स्वस्थ स्तन कोशिकाओं पर असर डाले बिना स्तन कैंसर की कोशिकाओं के प्रसार को रोक दिया यह गुण बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि पारंपरिक विधियों में ऐसा नहीं होता है हालांकि बहुत से ट्यूमर कीमोथेरेपी से ठीक हो जाते हैं मगर स्तन कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करना ज्यादा मुश्किल हो जाता है वह अक्सर बच जाते हैं और उपचार के प्रति प्रतिरोधक क्षमता विकसित कर लेती हैं अदरक के इस्तेमाल के दूसरे फायदे यह है कि उसे कैपफुर के रूप में दिया जाना आसान है इसके बहुत कम दुष्प्रभाव होते हैं यह पारंपरिक दावों का सस्ता विकल्प है।

मासिक धर्म की पीड़ा में अदरक के फायदे

क्लीनिकल ट्रायल में तीव्र लक्षणों वाले 100 माइग्रेन पीड़ितों में से कुछ को सुमाट्रिप्टन दिया गया और बाकियों को अदरक पाउडर। शोध में पाया गया कि दोनों की प्रभावक्षमता एक जैसी थी और अदरक पाउडर के दुष्प्रभाव सुमाट्रिप्टन के मुकाबले बहुत कम थे। इससे यह पता चलता है कि यह माइग्रेन का अधिक सुरक्षित उपचार है।
माइग्रेन का हमला शुरू होते ही अदरक की चाय पीने से प्रोस्टेग्लैंडिन दब जाते हैं और असहनीय दर्द में राहत मिलती है। इससे माइग्रेन से जुड़ी उबकाई और चक्कर की समस्याएं भी नहीं होतीं।
अदरक डिस्मेनोरिया (पीड़ादायक मासिक धर्म) से जुड़े दर्द को भी काफी कम करने में मददगार है। ईरान में किए गए एक शोध में 70 महिला विद्यार्थियों को दो समूहों में बांटा गया। एक समूह को अदरक के कैप्सूल और दूसरे को एक प्लेसबो दिया गया। दोनों को उनके मासिक चक्र के पहले तीन दिनों तक ये चीजें दी गईं।

भूख ना लगने पर अदरक के फायदे

यदि आपको भूख नहीं लग रही है और आप भोजन करते हैं और आपका पेट भरा भरा रहता है तो आप अपने भोजन में अदरक को शामिल करें अदरक में मौजूद एंजाइम्स खाने को सही तरीके से पचाने में मदद करते हैं और शरीर के मेटाबॉलिज्म को दुरुस्त बनाते हैं सथ में यह पेट दर्द, पेट फूलना और एसिडिटी की समस्या से भी निजात मिलते हैं गैस और कब्ज की समस्या से परेशान लोगों के लिए अदरक रामायण की तरह काम करती है।

Reed more…

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Latest News